सिगरेट छोड़ते ही शरीर खुद की मरम्मत करने लगेगा

किसी भी तरह का धूम्रपान आपको नशे और दुखदायी मौत के अलावा कुछ नहीं देता। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने अपने यहां सिगरेट छोडऩे को बढ़ावा देने के लिए एक कैंपेन ‘क्विट नॉउ’ चलाया है जिसमें लोगों को समझाया जा रहा है कि ‘हर वह सिगरेट जो आप नहीं पीते हैं वह आपके लिए कितना अच्छा कदम है।’ ‘स्टॉप स्मोकिंग- स्टार्ट रिपेयरिंग’ के संदेश के साथ इस कैंपेन से शरीर की अंदरुनी ताकत को उजागर करती कुछ अच्छी सच्चाइयां सामने आईं। जिन्हें हम भी अपनाकर बढ़ावा दे सकते हैं।


सिगरेट छोडऩे के 8 घंटे बाद :


आपके खून में मौजूद अतिरिक्त कॉर्बन मोनोऑक्साइड शरीर से बाहर निकलने लगेगी।
5 दिन में : निकोटिन को शरीर अपने अंदर से निकाल फेंकेगा।
1 हफ्ते में : स्वाद व संूघने की क्षमता बढऩे लगेगी।
10 हफ्तों में : आपके फेफड़े खुद की सफाई करने की अपनी कुदरती ताकत प्राप्त करने लगेंगे।
3 महीनों में : आपके फेफड़ों की ताकत और कार्यक्षमता में सुधार होगा।
12 महीनों में : दिल की बीमारियों का जोखिम घटकर आधा हो जाएगा।
1 साल के बाद : आप हजारों रुपयों की बचत कर उसे किसी अच्छे काम में खर्च कर पाएंगे।
5 साल के बाद : दिल और फेफड़ों की घातक बीमारियां आप पर हावी नहीं हो पाएंगी।

कैमिकल नहीं सिरका प्रयोग करें


रसायनों की बौछार से तंग आ गए हैं और घर को बैक्टीरिया फ्री रखना भी जरूरी है तो चिंता की कोई बात नहीं, घर में सिरका ले आएं। सिरके में मौजूद एसिटिक एसिड बैक्टीरिया का दुश्मन होता है। जिस चीज को आप साफ करना चाहते हैं उस पर इसे कम से कम 20 मिनट तक लगा रहने दें फिर पानी से धो लें।

इसके प्रयोग से आप अन्य रसायनिक पदार्थों के दुष्प्रभाव जैसे अस्थमा, स्किन एलर्जी आदि से भी सुरक्षित रहेंगे और आपके फ्लोर या टाइल्स आदि में भी कोई निशान नहीं पड़ेंगे।

5 साल के बाद : दिल और फेफड़ों की घातक बीमारियां आप पर हावी नहीं हो पाएंगी।

Let's block ads! (Why?)

Post a comment

0 Comments