जब दबाव पडऩे से अंग हो जाएं सुन्न, तो क्या करें उपाय

कभी-कभी हम महसूस करते हैं कि अचानक हमारे हाथ या पैर सुन्न पड़ गए हैं और उनमें झन-झनाहट शुरू हो गई है। ऐसा उस समय होता है जब शरीर के किसी अंग पर अधिक देर तक दबाव रहता है। लेकिन जैसे ही उस अंग पर से दबाव हटता है वैसे ही शरीर में रक्त और ऑक्सीजन का संचार बेहतर होता है और उस अंग में संवेदनशीलता लौट आती है।

शरीर के किसी अंग के सुन्न होने का प्रमुख कारण शरीर में रक्त का संचार अच्छे से न हो पाना है। यदि शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होने लगे तो अंग सुन्न नहीं होगा। जानिए कुछ ऐसे नुस्खों के बारे मेंं जो हाथ-पैर सुन्न होने पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं-

कारगर नुस्खे

1 चम्मच दालचीनी का पाउडर लें और इसमें 1 चम्मच शहद मिलाकर लें। ऐसा करने से रक्तसंचार बेहतर होता है सुन्न हुआ अंग जल्दी ठीक हो जाता है।
1 चम्मच सोंठ और 5 लहसुन की कलियों को पीसकर पेस्ट बनाएं और इसे लेप की तरह सुन्न स्थान पर लगाएं।
पीपल की चार कोमल कोंपलों को सरसों के तेल में मिलाकर पकाएं। फिर इसे छानें और सुन्न अंग पर लगाएं, फायदा होगा।
50 ग्राम नारियल के तेल में 2 ग्राम जायफल का चूर्ण मिलाकर सुन्न अंग पर लगाएं।
1 चम्मच सरसों के तेल में कुछ बूंद तुलसी के रस मिलाएं और इस मिश्रण से सुन्न पड़े अंग की मालिश करें, फायदा होगा।

क्या हो डाइट
अगर शरीर मेंं बार-बार सुन्न होने की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो डाइट में विटामिन और मैग्नीशियम लें। इसके लिए डाइट में मौसमी फल और सब्जियों को शामिल करें और बादाम, केला व काजू लें।


एक्सरसाइज
अगर अक्सर की ऐसी समस्या रहती है तो रोज व्यायाम करें। इससे शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होने लगता है। इसके अलावा सप्ताह में 5 दिन के लिए 30 मिनट एरोबिक्स भी करें, जिससे आप हमेशा स्वस्थ बने रहेंगे। इसके अलावा 30 मिनट की ब्रिस्क वॉक और योगासनों को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। साथ ही घंटों एक ही जगह पर बैठने से बचें। थोड़ी देर पर चले-फिरें। ज्यादा से ज्यादा सीढिय़ों का प्रयोग करें। नियमिततौर पर एक्सरसाइज करने से न सिर्फ शरीर को फिट रख पाएंगे बल्कि सुन्न होने की समस्या से भी निजात मिलेगी।

Let's block ads! (Why?)

Post a comment

0 Comments