थायराइड की समस्या को न करें अनदेखा, नहीं तो हो सकती हैं आपको ये परेशानियां

थायराइड के मामले सबसे ज्यादा महिलाओं में देखने को मिलते हैं। आंकड़ों की मानें तो करीब थायराइड के 10 मामलों में 8 महिलाएं पीडि़त होती हैं। इसके सामान्य लक्षणों में तनाव, अवसाद, नींद ठीक से न आना, कोलेस्ट्रॉल, आस्टियोपोरोसिस, बांझपन, पीरियड का समय पर न आना, दिल की धडक़न बढऩा जैसी परेशानियां शामिल हैं। जनवरी माह को थायराइड अवेयरनेस मंथ के तौर पर मनाया जाता है। ऐसे में जरूरी है कि इसके प्रारंभिक लक्षणों को पहचानना और इसे बढऩे से रोकना।

कारण

कब्ज की शिकायत
ऐसी स्थिति में गले से खाना उतरने में दिक्कत आती है और यह आसानी से पच नहीं पाता है और कब्ज की स्थिति बनती है।

बालों का झडऩा
त्वचा में सूखापन आना भी शामिल है। साथ बालों का झडऩा और कमजोर होना भी इसके लक्षण हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता घटना
ऐसी स्थिति शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है इस कारण दूसरे रोग होने की आशंका भी बढ़ जाती है।

थकावट और डिप्रेशन
शरीर में अक्सर थकावट महसूस होना और धीरे-धीरे आलसीपन बढऩा सामने आता है। इसके अलावा डिप्रेशन में जाना और दिमाग के सोचने-समझने की शक्ति कमजोर होने लगती है।

जोड़ों में दर्द
ऐसी स्थिति में शरीर के जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द होने की समस्या भी देखने को मिलती है।

फैमिली हिस्ट्री
अगर परिवार के किसी सदस्य को थायराइड की समस्या रही है तो इसके होने की आशंका अधिक रहती है।

असंतुलन
शरीर में थायराइड ग्लैंड गर्दन में पाई जाती है। इसका काम थायरॉक्सिन हार्मोन बनाना है। यह हार्मोन मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखता है। थायराइड हार्मोन का स्राव जब असंतुलित हो जाता है तो शरीर की समस्त भीतरी कार्यप्रणालियां अव्यवस्थित हो जाती हैं।

इलाज
इलाज रोग की शुरुआत में न कराया जाए तो स्थिति गंभीर हो सकती है और रोग की पूरी उम्र दवाएं लेनी पड़ सकती है। जब थायरायड की समस्या बढ़ जाती है तो उसे सर्जरी द्वारा निकाल दिया जाता है। इससे बचने के लिए व्यायाम करें, खानपान में मौसमी सब्जियां और फल खाएंं, रोगी नियमित तौर पर थायरायड की जांच करवाए।

रोग की गंभीरता
समय पर इलाज न होने पर इसकी गंभीरता के रूप में तनाव, याद्दाश्त कमजोर होना, कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढऩा, वजन बढऩा और नपुंसकता बढ़ सकती है।

टेस्ट
थायराइड रोग का पता लगाने के लिए पहले ब्लड टैस्ट करते हैं। इसके अलावा अगर बाल व नाखून का कमजोर होना, रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होना, अनियमित माहवारी और अवसाद जैसे लक्षण दिखते हैं तो एक्सपर्ट थायराइट टैस्ट की सलाह देते हैं।

Let's block ads! (Why?)

Post a comment

0 Comments