जानिए क्या होते हैं तकिया लगाने के नुकसान

आप सोते समय तकिया जरूर लगाते हैं, आपको लगता है कि तकिये पर सिर रखकर आपको अच्छी नींद आ जाएगी। लेकिन क्या आप जानते हैं तकिया लगाना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। एक रिसर्च में ये बात सामने आई हैं कि सिर के नीचे तकिया लगाकर सोने से कई शारीरिक और मानसिक समस्याएं होने लगती हैं। ऐसा इसलिए होता है कि कई बार तकिये की गलत पोजीशन या फिर गलत हाइट की वजह से गर्दन की मांसपेशियों पर जोर पड़ता है।जिसकी वजह से हमारी गर्दन में जकड़न व दर्द आदि की समस्या होने लगती है। जो हमारे मानसिक तनाव का कारण बनता है।


विशेषज्ञों के मुताबिक, तकिये पर सर रखकर सोने से चेहरे पर डलनेस, रिंकल्स और हेयर फॉल की समस्या हो सकती है। इतना ही नहीं तकिये की वजह से आपकी आईलैशेज तक टूट जाती हैं। दरअसल ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब हम रात को सोते हैं तो हमारी त्वचा और तकिए के बीच रगड़ होती है, जिससे चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगते हैं।

एक शोध के अनुसार, आपके तकिए के वजन का एक तिहाई भाग कीटाणुओं, मृत त्वचा, धूल और कीटाणुओं से भरा हुआ होता है। लोग तकिए पर नया कवर लगा कर उसे बहुत साफने लगते हैं पर एेसा नहीं है। अगर आप नींद में आप अपना मुंह तकिए में डालकर सोते हैं तो यह आदत इससे चेहरे पर झुर्रियां हो जाती हैं। इसके अलावा यह तरीका आपके चेहरे पर घंटों तक दबाव बनाए रखता है जिससे रक्त संचार प्रभावित होता है, और चेहरे की समस्याएं उभरती हैं।


तकिया आपके चेहरे पर एलर्जी का कारण भी होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि तकिये को बनाने के लिए अलग-अलग तरह के कपड़े, उस पर डिजाइन देने के लिए रंगों का प्रयोग, आदि होता है। कई बार आपके तकिये के कवर साफ नहीं होते, उसमें मिट्टी के कण मौजूद होते हैं जो रात में नींद के दौरान हमारे चेहरे पर चिपक जाते हैं। यही दूषित कण मुंहासों के बनने का कारण हैं। इसलिए या तो तकिया ना लें या फिर इसे अपने चेहरे से दूर ही रखें। अक्सर लोग हेयर फॉल के लिए प्रदूषण को ही जिम्मेदार मानते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है, सोने के दौरान हमारे बालों और तकिए के बीच रगड़ होती है। इससे बाल रूखे हो जाते हैं और उनका मॉइश्चर उड़ जाता है। कई बार बालों और तकिए की रगड़ के चलते बाल बीच में से ही टूट जाते हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Post a Comment

Previous Post Next Post