नाखून बताते हैं आपकी सेहत के बारे में

शरीर कितना स्वस्थ है इसका संकेत नाखून भी देते हैं। इनकी मदद से मिनरल्स, विटामिंस की कमी के अलावा थायराइड, एनीमिया, हृदय रोग, फेफड़ों से जुड़े डिसऑर्डर आदि का पता आसानी से लगाया जा सकता है।हैल्दी नाखूनों का रंग हमेशा हलका गुलाबी होता है। जानते हैं इसके बारे में.....

सफेद लकीरें
नाखून की सतह पर सफेद लकीरें हैं तो यह बायोटिन की कमी का संकेत है। बायोटिन शरीर में उपस्थित बुरे कोलेस्ट्रॉल को घटाकर शरीर को ऊर्जा देता है। इस के अलावा ऐसे नाखून लिवर से जुड़े रोगों को ओर इशारा करते हैं। ऐसे में ताजा मौसमी सब्जियों को खाने में शामिल करें।

पपड़ी निकलना
कैल्सियम, प्रोटीन और विटामिंस की कमी से के कारण नाखूनों के ऊपर से पपड़ी निकलने लगती है। ऐसे नाखूनों में रक्तसंचार कम होता है। ऐसे नाखून वाले व्यक्तियों में अधिकतर थायराइड या आयरन की कमी देखी जाती है। ऐसे में उन्हें फिश, बादाम लेना चाहिए।

पीले नाखून
नाखून पीले दिखाई देते हैं तो इसका एक कारण पीलिया भी हो सकता है। ऐसे नाखून वाले व्यक्तियों में पीलिया के अलावा सिरोसिस और फंगल इंफेक्शन जैसी बीमारियोंं के मामले भी देखने में आते हैं। इसके अलावा कई बार देखा जाता है कि धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के नाखून भी पीले या बदरंग हो जाते हैं।

सफेद-गुलाबी
कुछ लोगों में आधे सफेद और आधे गुलाबी रंग के नाखून देखे जाते हैं। ऐसे व्यक्ति को किडनी और पेट से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं। ऐसे लोगों को बिना किसी देरी के डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए।

ये ध्यान रखें
काम करने के बाद गुनगुने पानी से नाखूनों को साफ करने के बाद कोल्ड क्रीम से मॉइश्चराइज करें।
ऐसीटोनयुक्त नेल रिमूवर से नेल पॉलिश कभी साफ न करें। नाखूनों को समय-समय पर काट कर नेल फॉइलर से साफ करें।
नेल पॉलिश लगाने से पहले नेल हार्डर लगाएं ताकि नाखून केमिकल से सुरक्षित रहें।
नेल क्यूटिकल्स ही नाखूनों को फंगल और बैक्टीरिया के संक्रमण से बचाते हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Post a comment

0 Comments