सावधान! आंख मलने से क्षतिग्रस्त हो सकता है कॉर्निया

धुएं व धूल के कणों (स्मॉग) के कारण प्रदूषण का स्तर बढ़ गया। ऐसे में लोगों को आंखों में जलन, खुजली, एलर्जी व ड्राइनेस की दिक्कतेें हुई। यह स्थिति लंबे समय तक रहे तो आंखों की रोशनी और कॉर्निया दोनों प्रभावित हो सकती हैं। जानते हैं दुष्प्रभावों और इससे बचाव के तरीकेै।

बन सकता है घाव
आंख पर एक पतली झिल्ली होती है जिसे टियर फिल्म कहते हैं। यह आंखों को चिकना रखने के साथ बाहरी तत्त्वों से बचाव करती है। स्मॉग, प्रदूषण या कंप्यूटर पर अधिक देर तक काम करने वालों को आंखों में जलन या खुजली की शिकायत होती है। इस कारण वे आंखों को बार-बार मलते हैं जिससे आंखों में लालिमा व इंफेक्शन के कारण सूजन व घाव की स्थिति बनती है। ऐसे में आंख को बार-बार मलने से टियर फिल्म फट जाती है व सीधा असर कॉर्निया पर पड़ता है। इस स्थिति में कार्निया क्षतिग्रस्त भी हो सकता है।

...तो हो जाएं सावधान
अगर आंखों में जलन, खुजली, लालिमा, सूजन, रेशे वाली गंदगी आने के अलावा आंख से पानी आने की दिक्कत हो तो तुरंत विशेषज्ञ को दिखाएं।

स्मॉग से बचाव के तरीके
बड़ा चश्मा लगाएं: जब तक धुंध है तब तक घर से बाहर निकलते समय सादा या काला बड़ा चश्मा लगाकर ही बाहर निकलें ताकि आंख ढकी रहें।

मसलें नहीं: आंखों में खुजली व जलन होने पर बार-बार मसलें नहीं व गंदे हाथों से आंखें न छुएं। इससे संक्रमण हो सकता है।

दिन में 4-5 बार धोएं आंख: बाहर से घर या ऑफिस पहुंचते ही आंखों को धोएं। धोने के लिए सामान्य या हल्के ठंडे पानी का इस्तेमाल करें। ऐसा दिन में 4-5 बार करें। गुलाबजल को ड्रॉप की तरह भी इस्तेमाल में ले सकते हैं।

आई मेकअप से दूर रहें: धूल-धुएं वाली जगह पर जाने के दौरान आंखों के मेकअप से बचें। इससे आंख पर धूल के कण चिपक सकते हैं।

प्रोटे्रक्टिव ग्लास प्रयोग में लें: धूल-धुएं का खतरा दो-पहिया चलाने वालों को ज्यादा है। ऐसे में प्रोटेक्टिव ग्लास वाले हेलमेट को पहनें।

शुरुआती स्टेज में इलाज
कॉर्निया के प्रभावित होने से चश्मा काम न करने पर लोग कॉन्टैक्ट लैंस लगवाते हैं। लेकिन स्थिति बिगडऩे पर ये भी काम नहीं करते। कॉर्निया प्रभावित होने की शुरुआती स्टेज में एंटीबायोटिक्स, लुब्रिकेटिंग व एंटी एलर्जिक ड्रॉप से इलाज करते हैं। गंभीर स्थिति में सर्जरी करते हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Post a comment

0 Comments