हाथ से खाने के हैं कई फायदे

दोस्तों, रिश्तेदारों या घर के बड़ों को हाथ से खाना खाते हुए देखकर भले ही आपको अजीब लगे लेकिन वैज्ञानिक रूप से इसके कई फायदे होतेे हैं। हमारे यहां लोग सदियों से हाथ से खाना खाते आ रहे हैं।

मानसिक सुकून

कुछ पारंपरिक देसी खाना (जैसे कच्ची रसोई) हाथ से खाने पर ज्यादा स्वादिष्ट लगता है। विशेषज्ञों के अनुसार ऐसा दिमागी संकेतों की वजह से होता है, जो हमें मानसिक सुकून का अहसास कराते हैं।

गैस्ट्रिक जूस बनता है

विशेषज्ञों के मुताबिक जब हम चम्मच से खाना खाते हैं तो यह पता नहीं चल पाता कि सब्जी या दाल कच्ची है या पक्की, ठंडी है या गर्र्म। लेकिन जब हाथ से खाना शुरू करते हैं तो छूते ही इसका अहसास हो जाता है। इन संकेतों के मिलते ही हमारा दिमाग, पेट को गैस्ट्रिक जूस बनाने के लिए संकेत देने लग जाता है। गैस्ट्रिक जूस यदि ठीक से बनते हैं तो खाना पूरी तरह से पच जाता है और शरीर को पोषक तत्वों की प्राप्ति हो जाती है। नहीं पचता तो कब्ज, एसिडिटी और अपच की समस्या होने लगती है।

हिंदू धर्म की मान्यता

हमारा शरीर वायु, अग्नि, जल, आकाश और पृथ्वी से मिलकर बना है। हाथों की अंगुलियां इन तत्वों का प्रतिनिधित्व करती हैं। जब इन पांचों तत्वों के माध्यम से भोजन लिया जाता है तो ये हमारे खाने में अवशोषित होकर हमें निरोगी बनाते हैं।

चम्मच के बाद हाथ से खाना

जब कोई व्यक्ति लंबे समय तक चम्मच से खाना खाता है और उसके बाद अचानक से हाथ से खाता है तो उसे पेट संबंधी समस्या या आंतों में इंफेक्शन हो जाता है क्योंकि उसके शरीर में सामान्य फ्लोरा(शरीर के लिए जरूरी बैक्टीरिया) का संतुलन बिगड़ जाता है।

सावधानी भी जरूरी

खाना खाने से पहले हाथ अच्छी तरह धोएं, आपके नाखून कटे हुए हों। अगर आपको त्वचा संबंधी कोई एलर्जी है तो हाथ से खाना ना खाएं।

Post a Comment

Previous Post Next Post