फ्रांस में बैन है टमेटो कैचअप, जानें कहां नहीं खा सकते कौनसा फूड आइटम

वैसे तो नियम कानून हर देश में हैं और यह हर देश में अलग हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि कुछ देशों में फूड आइटम्स को लेकर भी सख्त नियम बनाए गए हैं। ऐसा संभव है कि आप किसी देश में घूमने जाएं और वहां आपको आपका पसंदीदा फूड आइटम केवल इस वजह से खाने को न मिले, क्योंकि उस देश ने उसे बैन किया हो। यहां पढ़ें कुछ ऐसे टेस्टी फूड आइटम्स के बारे में और कहां उन्हें बैन किया गया है।

सोमालिया में बैन है समोसा

भारत में शायद ही कोई पार्टी समोसे के बिना पूरी होती हो, हालांकि अगर आप सोमालिया जाएंगे तो वहां आपको कहीं भी समोसा खाने को नहीं मिलेगा। सोमालिया में समोसे पर बैन के पीछे वजह है इसकी ट्राएंगुलर शेप। असल में यह शेप अल शबाब ग्रुप के लिए क्रिश्चियनिटी के सिंबल से मेल खाती है। उन्हें लगता है कि यह शेप क्रिश्चियन होली ट्रिनिटी से मेल खाती है, इसलिए वर्ष २०११ में उन्होंने सोमालिया में समोसे पर बैन कर दिया।

फ्रांस में बैन है टमेटो कैचअप

अगर आपको स्नैक्स के साथ टमेटो कैचअप खाने की आदत है, तो फ्रांस में आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। फ्रेंच सरकार ने वर्ष २०११ में ही एलिमेंट्री स्कूलों से टमेटो कैचअप को बैन कर दिया, ताकि फ्रेंच कुजीन के स्वाद को टमेटो कैचअप का स्वाद ओवरशैडो न कर दे।

अमरीका में किंडर एग्स

हैल्थ के लिहाज से इसे अच्छा न मानते हुए अमरीकी सरकार ने देशभर में किंडर सरप्राइज एग्स की बिक्री बैन कर दिया। इसके अलावा सरकार ने इसमें निकलवे वाले सरप्राइज चॉकलेट एग्स को बच्चों के लिए चोकिंग हजार्ड यानी कि गले में अटकने वाला माना है। आपको बता दें कि वर्ष १९३८ में भी अमरीका के फूड, ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के तहत ऐसी तमाम कैंडीज को बैन किया गया था, जिनमें कोई न्यूटे्रटिव ऑब्जेक्ट्स नहीं थे।

सिंगापुर में बैन है च्युइंगम

सफाई और सीफूड के लिए मशहूर सिंगापुर में च्युइंगम चबाने की इजाजत नहीं है। सिंगापुर स्टैचुएट चैप्टर ५७ ने वर्ष १९९२ में ही हर तरह की च्युइंगम के इस्तेमाल, डिस्ट्रीब्यूशन और ट्रेड पर बैन लगाया था। हालांकि वर्ष २००४ में इंटरनेशनल प्रेेशर के चलते देश में थैराप्यूटिक डेंटल च्युइंगम चबाने की इजाजत दे दी गई थी।

Post a comment

0 Comments